17 मार्च 2009

होली मुबारक

होली की छुट्टी में घर गया था। आप सभी से दूर रहने के लिए माफ़ी चाहता हूँ।

बस एक बात दिल को छू गई, इस बार होली पर कोई अशुभ समाचार सुनने को नही मिला। आप जैसे भाई बहन और दोस्तों की ब्लॉग के जरिये जागरूकता फैलाने का ही असर मानता हूँ, जो समाज को कहीं न कहीं सभ्यता की राह दिखा रहा है।

बस आप लोगों को बाद ही सही पर दिल से होली की शुभकामना।

10 टिप्‍पणियां:

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

भई राजीव जी, अभी तो होली आने मे पूरा साल पडा है.......इतनी जल्दी?

नीरज गोस्वामी ने कहा…

राजीव जी आपको भी होली की ढेरों शुभ कामनाएं...ब्लॉग जगत में वापस आने पर स्वागतम...
नीरज

Udan Tashtari ने कहा…

होली की शुभकामना।

राज भाटिय़ा ने कहा…

आप को होली की शुभ कामनाएं.

hempandey ने कहा…

ईश्वर करे होली में ही नहीं कभी भी कोई अशुभ समाचार सुनने को न मिले.

समीर सृज़न ने कहा…

aapko bhi meri taraf se holi ki dher sari shubhkamnayen...

समीर सृज़न ने कहा…

vats ji lagta hai aapne holi ki fuhar barsai hai ya fir aapne rajeev ji ka post sahi se nahi padha hai.

kumar Dheeraj ने कहा…

आपसी प्यार और सदभावना की अनोखी चादर है होली...ऐसे त्योहार में लोग गले मिलते है दुश्मनी को खत्म करते है पर इसके उल‍ट हिंसा की घटनाये जो हमारे समा्ज में होती है वह इस त्योहार की गरिमा को कम ही करती है । आपने सही लिखा है आशा है कि इस बार की तरह हर बार आपका होली गुजरे । धन्यवाद

Kumar sambhav ने कहा…

rajeev ji aapko bhi holi ki dher sari shubhkamnayen

Kumar sambhav ने कहा…

bas lagatar nai post likhte rahiye. aapki har post mai bade dhyan se padhta hun, isliye aapki post ka intazar rahta hai. aabhar